शिक्षक संबंधी विवरणी जल्द जमा करें

रांची : जिले के सभी 13 कस्तूरबा गांधी तथा 8 मॉडल विद्यालयों को विद्यालयवार स्वीकृत संकायवार शिक्षकों की संख्या व उनके पदस्थापन का विवरण डीईओ कार्यालय में जल्द जमा करने का आदेश दिया गया है। यह आदेश स्वयं जिला शिक्षा पदाधिकारी राजकुमार प्रसाद सिंह ने गुरुवार को कस्तूरबा गांधी तथा मॉडल विद्यालयों के वार्डेन एवं प्राचार्यों के साथ हुई बैठक में दी। इसके अलावा सभी विद्यालयों में मासिक जांच व सार्वाधिक परीक्षा आयोजित करने, आधारभूत संरचनाओं की स्थिति से जल्द अवगत कराने, बालिका प्रोत्साहन योजना की रिपोर्ट अविलंब देने, नि:शुल्क पुस्तक व पोशाक का वितरण करने, विद्यालय में प्रयोगशाला, पुस्तकालय, तड़ित चालक, अग्नि शमन यंत्र आदि को क्रियाशील रखने का निर्देश दिया गया।

  • Share/Bookmark

रांची के दो व्यवसायियों के19 ठिकानों पर छापा

रांची : आयकर विभाग ने बुधवार को आयकर चोरी के मामले में बड़ी कारवाई की है। आयकर की टीम ने चावल व बर्तन का कारोबार करने वाले दो व्यवसायिक ग्रुपों के 19 ठिकानों पर एक साथ छापामारी की। सूत्रों के अनुसार बाबा राइस मिल, साहू गु्रप के रांची, जमशेदपुर व कोलकाता के 13 ठिकानों और बर्तन बनाने एवं इसका कारोबार करने वाली कंपनी नानी स्टील ग्रुप के रांची के छह ठिकानों पर एक साथ छापामारी की गयी। फिलहाल छापामारी की कार्रवाई जारी है। छापामारी में आयकर विभाग को इन दोनों व्यवसायिक ग्रुपोंं के आवास व कार्यालय से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं, जिसकी छानबीन की जा रही है। आयकर विभाग द्वारा दोनों व्यवसायिक गु्रपों के अतिरिक्त स्टॉक की गिनती की जा रही है और उनकी संपत्ति का वेरिफिकेशन किया जा रहा है।  सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आयकर विभाग को इन दोनों व्यवसायिक ग्रुप द्वारा आयकर की चोरी सूचना मिली थी, जिसके बाद आयकर विभाग ने छापामारी की यह कार्रवाई की है।

  • Share/Bookmark

खतरनाक हो सकता है यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन

घर, आॅफिस और कहीं बाहर होने पर अक्सर हम अपनी हेल्थ को नजर अंदाज कर देते हैं, जिससे कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन भी ऐसी ही एक समस्या है, जो जरा सी लापरवाही से    उत्पन्न होकर किडनी तक पहुंच सकती है। इससे निपटने के लिए पहले इसे जानना बेहद आवश्यक है। यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन वह समस्या है, जो मूत्रमार्ग को संक्रमित कर तेजी से फैलती है। पुरूषों की तुलना में महिलाओं में यह समस्या सबसे अधिक देखने को मिलती है, जिसे यूटीआई भी कहा जाता है। यदि इस समस्या को समय रहते ठीक नहीं किया गया, तो यह ब्लेडर और किडनी तक को संक्रमित कर नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए अनदेखा किए बिना, समय रहते इसका इलाज कराना बेहद आवश्यक है।
क्या है यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन
वैजाइना या मूत्रमार्ग के आसपास एवं अंदर के हिस्से में बैक्टीरिया पनपने से संक्रमण का फैलना ही यूरिनरी इंफेक्शन कहलाता है। ज्यादातर महिलाओं में मेनोपॉज के बाद हार्मोन्स के बदलाव के कारण भी यह समस्या होती है।अधिकतर गर्मी व बरसात के दिनों में यह इंफेक्शन तेजी से फैलता है।
यूटीआई के लक्षण
मूत्रमार्ग में खुजली, दर्द या जलन, बार-बार टॉयलेट जाना, बुखार के साथ ठंड लगना, मतली होना, यूरिन से बदबू और उसका रंग में बदलाव, पेट के निचले हिस्से व कमर में दर्द और भारीपन, पेशाब के समय जलन महसूस होना, थकान और चक्कर आना।
यूटीआई से बचने के लिए करें यह उपाय
भरपूर मात्रा में पानी पिएं, क्योंकि इससे शरीर के सारे टॉक्सिन्स बाहर निकल जाते हैं, और बैक्टीरिया नहीं फैल पाते। पेशाब को बहुत देर तक रोक कर न रखें, इससे इन्फेक्शन फैलने का खतरा बना सकता है। सार्वजनिक शौचालय को इस्तेमाल करने से पहले और बाद में फ्लश जरूर करें। साथ ही उसकी सीट की साफ-सफाई पर भी ध्यान दें। प्राइवेट पार्ट्स की साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखें। कम्फर्टेबल अंडरगार्मेंट्स पहनने चाहिए। सेक्स से पहले और बाद में टॉयलेट जरूर जाएं और हाइजीन का भी पूरा ख्याल रखें। किसी भी प्रकार के हाइजीन का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। इस इन्फेक्शन के कारण किसी दवा का सेवन कर रहे हैं तो उसका कोर्स पूरा करना चाहिए, क्योंकि बीच में दवा छोड़ देने से फिर से इन्फेक्शन होने का खतरा रहता है। अपनी डाइट में विटामिन सी की मात्रा शामिल करें, जिसमें खास तौर से, जूस, अनानास, नींबू, मौसंबी, संतरा व करौंदे का जूस प्रमुख हैं। दारूहल्दी व लहसुन का सेवन भी जलन को कम करने में सहायक है। दालचीनी, जौ का पानी, नारियल पानी और छाछ का भरपूर सेवन करें, इनसे भी जलन में राहत मिलेगी। यूटीआई इन्फेक्शन से जल्द निजात पाने के लिए गर्म पानी के बैग या बोतल से सिकाई करें। मसालेदार भोजन, चाय, कॉफी, चॉकलेट, सिगरेट और एल्कोहल का सेवन न करें।

  • Share/Bookmark

‘धौनी बिना आईपीएल की कल्पना भी मुश्किल’

नई दिल्ली : चेन्नई सुपरकिंग्स के कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी के बिना इंडियन प्रीमियर लीग की कल्पना करना ही मुश्किल है, ऐसा मानना है पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर का। गावस्कर से जब पूछा गया कि धोनी के बिना आईपीएल कैसा होगा, यह काफी कठिन होगा। वैसे धोनी सिर्फ 34 साल का है और अभी उसके इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने में समय है। किसी भी सूरत में धोनी के बिना आईपीएल की कल्पना करना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि एसके और राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों की मनोदशा बहुत खराब होगी लेकिन इस फैसले को हल्के में नहीं लिया जा सकता क्योंकि इसमें भारत के तीन पूर्व मुख्य न्यायाधीश जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि मैं जानता हूं कि चेन्नई और राजस्थान के खिलाड़ियों की मनोदशा इस समय बहुत खराब होगी जिन्हें दूसरों के गुनाहों की सजा मिली है. लेकिन तीन पूर्व मुख्य न्यायाधीशों ने फैसला सुनाया है लिहाजा इसकी विश्वसनीयता पर सवाल नहीं किया जा सकता गावस्कर ने कहा कि अगले आईपीएल में अभी आठ महीने का समय है लिहाजा बीसीसीआई के लिए दो नई टीमें तलाशना कठिन नहीं होगा।

  • Share/Bookmark

नयी बहाली में 33 प्रतिशत महिलाएं

डीजीपी डीके पांडेय ने बताया कि पुलिस विभाग में 17003 रिक्तयां होनी हैं। इनमें 33 प्रतिशत महिलाओं की नियुक्ति होगी। इसके लिए उन्होंने सभी जिला, पुलिस लाइन और बटालियन को तैयारी कर लेने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि महिला पुलिसकर्मियों के लिए जो कुछ भी जरूरत है, उसे अगले छह माह में पूरा कर लिया जाये। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग में महिला पुलिसकर्मियों की काफी जरूरत है। कई काम ऐसा है, जिसे महिला पुलिसकर्मी ही पूरा कर पाती हैं। काफी संख्या में महिला पुलिसकर्मियों के बहाल होने से झारखंड पुलिस को जनता के सामने अपनी छवि बनाने में भी आसानी होगी। डीजीपी ने कहा कि आज पुलिस विभाग के लिए खेलकूद में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले खिलाड़ियों में भी सर्वाधिक महिला खिलाड़ी ही हैं।

  • Share/Bookmark

ई-कॉमर्स कंपनियां देंगी नौकरियां

एजेंसी:
नई दिल्ली: अलग-अलग कंपनियों की खोज द्वारा लगाए गए अनुमान के अनुसार इस वर्ष ई-कॉमर्स कंपनियां लोगों के लिए नौकरियों की भरमार लाने वाली हैं और नौकरियों के साथ उनकी सैलरी करोड़ों में देने का विचार कर रही हैं। आरजीएफ ऐग्जिक्युटिव सर्च, लॉन्गहाउस कंसल्टिंग और एबीसी कंसल्टेंट्स सहित पांच सर्च कंपनियों का यह आकलन है। अनुमान के अनुसार बताया जा रहा है कि फ्लिपकार्ट, स्नैपडील, ऐमजॉन, ओला, उबर, क्विकर, कॉमनफ्लोर, येपमी, हंगामा, बुकमायशो, जबॉन्ग, ओएलएक्स, जंगली, फैशनऐंडयू,  क्लियरट्रिप, लेंसकार्ट इत्यादि कंपनियां करोड़ों की सैलरी के साथ जॉब देगी। इनमें से फ्लिपकार्ट और ऐमजॉन में सबसे ज्यादा जॉब मिलेंगी। एबीसी कंसल्टेंट्स के डायरेक्टर सिद्धार्थ रायसुराना की जानकारी के अनुसार पिछले छह महीनों में एबीसी ने ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए 100 से भी ज्यादा उच्चस्तरीय पदों की भर्ती के लिए सर्च किए हैं। वहीं, कंसल्टिंग कंपनी लॉन्गहाउस कंसल्टिंग को एक महीने में 12 से ज्यादा अधिकारियों की खोज करने की जिम्मेदारी मिली है। लॉन्गहाउस कंसल्टिंग के मैनेजिंग पार्टनर अंशुमान दास के अनुसार, उनकी कंपनी की 70 से 80 प्रतिशत कमाई ई-कॉमर्स कंपनियों से ही होती है। उम्मीद कि जा रही है कि इस वर्ष 180 से 200 अधिकारियों की नियुक्ति का जिम्मा उनकी कंपनी को मिलेगा जो कि पिछले वर्ष 75-85 था। आरजीएफ ऐग्जिक्युटिव सर्च के ऐग्जिक्युटिव डायरेक्टर जी सी जयप्रकाश का कहना है कि ई-कॉमर्स कंपनियों में उच्च पदों पर रोजाना कम से कम एक नियुक्ति उनकी कंपनी के माध्यम से हो रही है। उनका कहना है कि कंपनियां काबिल अधिकारियों को मोटी सैलरी देने से नहीं झिझक रही हैं। स्नैपडील के एचआर वाइस प्रेजिडेंट सौरभ निगम ने कहा कि कंपनी का बिजनस भी बढ़ने से लीडरशिप पोजिशन पर हायरिंग भी बढ़ी रही है। उन्होंने कहा कि हमारी टीम में फिलहाल 5000 लोग हैं और हमें लीडरशिप हायरिंग बढ़ाने की जरूरत है।

  • Share/Bookmark

दुनिया को आप जैसे और नेताओं की जरुरत

एजेंसी
नयी दिल्ली : विश्व बैंक के अध्यक्ष जिम यांग किम ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनकी सरकार के कार्यक ाल का एक साल पूरा होने पर बधाई देते हुए कहा कि दुनिया को ह्यआपके जैसे और नेताओं की जरुरत है।ह्ण किम ने प्रधानमंत्री को एक साल में गरीबी समाप्त करने के लिए उठाये गये दूरदृष्टि वाले कदमों के लिए बधाई दी। विश्व बैंक प्रमुख ने ट्विट किया, ह्यभारत में गरीबी समाप्त करने के लिए एक साल के दूरदृष्टि वाले कदमों के लिए बधाई। दुनिया को आप जैसे और नेताओं की जरुरत है। मोदी ने उनके इस संदेश पर धन्यवाद दिया। प्रधानमंत्री ने ट्विट किया, ह्यजिम किम को धन्यवाद। हम सभी को दुनिया को रहने के लिए बेहतर स्थान बनाने को मिलकर काम करना होगा।

  • Share/Bookmark

फ्रेंच ओपन : तीसरे दौर में पहुंचे वावरिंका

ोरिस : स्विट्जरलैंड के अग्रणी टेनिस खिलाड़ी स्टानिस्लास वावरिंका ने वष  के दूसरे ग्रैंड स्लैम टेनिस टून ामेंट फ्रेंच ओपन के तीसरे दौर में प्रवेश कर लिया। वावरिंका ने पुरुष एकल वग  के दूसरे दौर के मैच में सबिय ा के डुसान लैजोविक को चार सेटों तक खिंचे मुकाबले में 6-3, 6-4, 5-7, 6-3 से हराया। आठवीं विश्व वरीयता प्राप्त वावरिंका अब तीसरे दौर में युक्रेन के सज ेइ  स्टाखोव्स्की और अमेरिकी खिलाड़ी स्टीव जॉनसन के बीच होने वाले मैच के विजेता से भिड़ेंगे। वावरिंका यदि क्वाट र फाइनल में जीत हासिल करने में सफल रहते हैं तो क्वाट र फाइनल में उन्हें हमवतन रोजर फेडरर का सामना करना पड़ सकता है।

  • Share/Bookmark

इंग्लैंड-न्यूजीलैंड के बीच दूसरा टेस्ट आज, स्टोक्स पर होंगी नजरें

एजेंसी
लीड्स : इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच 29 मई से शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट के दौरान बेन स्टोक्स पर सभी की नजरें होंगी जिन्होंने पहले टेस्ट में सिर्फ 85 गेंद में शतक जमाकर मेजबान टीम की जीत के सूत्रधार की भूमिका निभाई थी । स्टोक्स ने लार्डस पर सबसे तेज टेस्ट शतक जमाया जिसकी बदौलत इंग्लैंड ने 124 रन से जीत दर्ज करके दो मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढत बना ली ।
इंग्लैंड ने पहली पारी के चार विकेट सिर्फ 30 रन पर गंवा दिये थे जिसके बाद उसने 92 रन की पारी खेली और जो रूट के साथ 161 रन की साझेदारी भी की। इसके बाद आखिरी दिन 38 रन देकर तीन विकेट भी लिये। रूट ने हालांकि कहा कि स्टोक्स आत्ममुग्धता के शिकार नहीं होंगे। उन्होंने कहा ,‘ वह खुलकर बल्लेबाजी करता है और दबाव में भी अपने स्ट्रोक्स खेलता है। हमें उम्मीद है कि उसकी लय बरकरार रहेगी। ’ पहले टेस्ट में इंग्लैंड के कप्तान एलेस्टेयर कुक ने भी 162 रन की पारी खेली जो अब इंग्लैंड के लिये 8900 टेस्ट रन के ग्राहम गूच के राष्ट्रीय रिकार्ड से सिर्फ 32 रन पीछे हैं।

  • Share/Bookmark

राज्यों के लिए एक जैसा फंडिंग पैटर्न हो

वरीय संवाददाता
रांची/भोपाल : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि केन्द्र प्रायोजित योजनाओं में सभी राज्यों के लिए एक जैसा फंडिंग पैटर्न न हो। बल्कि वैसे राज्य जिनकी प्रति व्यक्ति आय राष्टÑीय औसत से कम है, के लिए अपेक्षाकृत राज्यांश का अनुपात कम रखा जाए। अत्यन्त उन्नत राज्यों के लिए राज्यांश का प्रतिशत समानुपातिक रूप से अधिक रखा जाए। देश के पूर्वोत्तर राज्यों एवं अन्य जनजातीय बहुल क्षेत्र के लिए केन्द्र सरकार को विशेष व्यवस्था करनी चाहिए, जिससे इन राज्यों में जिनमें झारखंड भी शामिल है, अपनी विकास दर देश के औसत दर के बराबर लाने में सहुलियत होगी। श्री दास गुरुवार को भोपाल में आयोजित नीति आयोग की उपसमिति की बैठक को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने झारखंड की स्थिति की चर्चा करते हुए कहा कि केन्द्र प्रायोजित योजनाओं में फंड शेयरिंग के अलावा, उनके कार्यान्यवयन के लिए मूलभूत परिवर्त्तन की आवश्यकता है। उन्होंने इस बात पर बल दिया कि प्रत्येक प्रक्षेत्र में केन्द्र प्रायोजित योजनाओं की एक अंब्रेला स्कीम होनी चाहिए। उस प्रक्षेत्र की अन्य योजनाएं इसकी अन्तर्निहित इकाईयों के रूप में कार्यान्वित हों। उन्होंने कहा कि केन्द्र संचालित योजनाओं की संख्या सीमित होनी चाहिए।

  • Share/Bookmark