चुनावों पर खर्च डेढ़ लाख करोड़ रुपये के पार

एजेंसी
नयी दिल्ली: लोकसभा चुनावों के छठे चरण के करीब पहुंचने के बीच एक नई अध्ययन रिपोर्ट जारी की गई है, जिसमें कहा गया है कि पिछले पांच साल में देश में हुए विभिन्न चुनावों में कुल राशि डेढ़ लाख करोड़ रुपये से ऊपर की राशि खर्च की गई और इसमें से आधे से अधिक धन बेहिसाब स्रोतों से आया था। सेंटर फॉर मीडिया (सीएमएस) द्वारा कराया गया यह अध्ययन ऐसे समय में सामने आया है जब कई राजनीतिक दल इस बार के लोक सभा चुनावों में एक दूसरे पर कालेधन का इस्तेमाल करने आरोप लगा रहे हैं। सात अप्रैल को शुरू यह चुनाव 12 मई तक चलेगा। अभी तक पांच चरणों में 232 लोकसभा सीटों पर मतदान हो चुके हैं, जबकि बाकी चार चरण में 311 सीटों पर मतदान होने हैं। सीएमएस के अध्ययन के मुताबिक पिछले पांच साल में भारत में कई चुनावों के दौरान 1,50,000 करोड़ रुपये से अधिक धन खर्च किया गया।
तीस हजार करोड़ लोस चुनावों पर खर्च: सीएमएस के चेयरमैन एन. भास्कर राव >> शेष पेज 11 पर
ने बताया कि यह एक मोटा अनुमान है। इस भारी भरकम राशि में से आधे से अधिक राशि कालाधन है।  रिपोर्ट में कहा गया है कि डेढ़ लाख करोड़ रुपये में से 20 प्रतिशत या 30,000 करोड़ रुपये चालू लोक सभा चुनावों में खर्च किए जाने का अनुमान है। इस कुल राशि का एक तिहाई या 45,000 से 50,000 करोड़ रुपये राज्यों के विधान सभा चुनावों में खर्च किए गए।
दस हजार करोड़ जिला परिषद के चुनावों पर खर्च : रिपोर्ट के मुताबिक करीब 30,000 करोड़ रुपये पंचायतों के चुनावों पर, 20,000 करोड़ रुपये मंडलों के लिए, 15,000 करोड़ रुपये नगर निगमों के लिए और 10,000 करोड़ रुपये जिला परिषदों के लिए खर्च किए गए। रिपोर्ट में कहा गया है कि लोकसभा चुनावों में मीडिया प्रचार अभियान (25 प्रतिशत) और सत्तारूढ़ पार्टियों द्वारा चुनाव पूर्व खर्च (20 से 25 प्रतिशत) का इसमें अहम हिस्सा है।
छोटे चुनावों में मीडिया पर भी खर्च कम: अध्ययन के मुताबिक छोटे चुनावों में चीजें अलग होती हैं। मीडिया पर खर्च बहुत कम होता है और मंडलों व पंचायतों में रैलियों पर खर्च एक तरह से न के   बराबर होता है। उन्होंने दावा किया कि स्थानीय चुनावों में राजनीतिक दलों द्वारा खर्च 10 प्रतिशत से कम होता है, जबकि लोकसभा चुनाव में यह 20 प्रतिशत होता है। वहीं दूसरी ओर, लोकसभा के मामले में उम्मीदवार द्वारा पार्टी टिकट हासिल करने के लिए बहुत अधिक धन खर्च किया जाता है।

  • Share/Bookmark

मोदी के बयान से पाकिस्तान खुश

नई दिल्ली : भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने भारत-पाकिस्तान के बारे में भारतीय जनता पार्टी नेता नरेंद्र मोदी के बयान का स्वागत किया। मोदी ने कहा है कि दोनों देशों का संबंध संतुलित और हस्तक्षेप रहित होना चाहिए। एक टीवी चैनल पर मंगलवार को एक इंटरव्यू में मोदी के बयान का स्वागत करते हुए बासित ने कहा कि हम इस बयान से अत्यंत उत्साहित हैं। मोदी ने कहा था कि सभी देशों के साथ संबंध संतुलित होना चाहिए और किसी दूसरे देश का हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए और न ही हम ऐसा करेंगे। मोदी से पूछा गया था कि जब वे सत्ता में आएंगे तो क्या पाकिस्तान के साथ कड़ाई से पेश आएंगे? वहीं आज अब्दुल बासित ने कहा कि देश में बढ़ते आतंकवाद पर उनका देश सर्वाधिक खतरनाक स्थल नहीं बल्कि ऐसा देश है जिसे लेकर अंतरराष्ट्रीय जगत में सबसे ज्यादा गलतफहमी है। बासित ने पाकिस्तान उच्चायोग में इंडियन वूमेन प्रेस कोर की सदस्यों के साथ संवाद कार्यक्रम में कहा कि आतंकवाद का दंश जितना ज्यादा पाकिस्तान झेल रहा है उतना शायद ही किसी देश ने भुगता हो। उन्होने कहा कि पाकिस्तान आतंकवाद पर लगाम लगाने के लिए जितने उपाय करता है उसे उतने ही ज्यादा कदम उठाने की उसे नसीहत दी जाती है।

राहुल गांधी ने माना  देश में सत्ता विरोधी लहर
एजेंसी
नई दिल्ली:  कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को संप्रग सरकार के खिलाफ थोड़ी सत्ता विरोधी लहर होने की बात स्वीकार की। उन्होंने माना कि संप्रग सरकार ने एक या दो गलतियां की हैं। उन्होंने वादा किया यदि लोकसभा चुनाव के बाद कांग्रेस सत्ता में आई तो उनके नेतृत्व में एक परिवर्तन लाने वाली सरकार का गठन होगा। उन्होंने कहा कि वह व्यवस्था में बदलाव चाहते हैं। राहुल ने कहा कि वह जानते हैं कि यह पांच साल में नहीं होगा। इसमें लंबा समय लगेगा। लेकिन एक शुरुआत की जा सकती है। राहुल गांधी ने एक निजी चैनल के साथ एक साक्षात्कार में यह भी स्वीकार किया कि हो सकता है कि संप्रग सरकार ने एक या दो गलतियां की हों। उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद यदि सांसद उन्हें प्रधानमंत्री बनाना चाहेंगे तो वह इस पर 99 प्रतिशत नहीं बल्कि 103 प्रतिशत सहमत होंगे। उन्होंने वादा किया कि उनके नेतृत्व में सरकार भारत में बदलाव लाएगी। यह एक पारंपरिक सरकार नहीं होगी। बल्कि वह व्यवस्था और ढांचे को बदलने वाली सरकार होगी। उसका प्रदर्शन जबरदस्त होगा।
उन्होंने जोर दिया कि यह राहुल की नहीं बल्कि देश के लोगों की सरकार होगी। हम जहां तक संभव है लोगों को शक्ति देंगे। नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए राहुल ने कहा कि गुजरात में लोकायुक्त नहीं है, वहां गुप्त भ्रष्टाचार है।

  • Share/Bookmark

शाजिया पर चौतरफा हमला

एजेंसी
नई दिल्ली : मुसलमानों को सांप्रदायिकता का पाठ पढ़ाने वाले विडियो पर आम आदमी पार्टी (आप) की नेता शाजिया इल्मी चौतरफा घिर गई हैं। आम आदमी पार्टी भी शाजिया के बयान से नाराज बताई जा रही है और उसने इससे पल्ला झाड़ लिया है। वहीं कांग्रेस और बीजेपी ने शाजिया पर तीखे हमले किए हैं। कांग्रेस ने तो शाजिया को दूसरा तोगड़िया करार दिया है। बीजेपी करेगी चुनाव आयोग से शिकायत: उधर, बीजेपी ने शाजिया के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत की तैयारी कर ली है। बीजेपी ने शाजिया के बयान को देश को तोड़ने वाला करार दिया है। बीजेपी नेता नलिन कोहली ने कहा है कि शाजिया के इस बयान से आम आदमी पार्टी की सोच स्पष्ट रूप से सामने आ गई है। कांग्रेस ने शाजिया इल्मी की तुलना विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया से की है, जिन्हें एक विडियो में मुसलमानों के खिलाफ बयान देते दिखाया गया था। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, शाजिया इल्मी ने पहले भी गृह मंत्री जैसे वरिष्ठ व्यक्ति का मजाक उड़ाया है। केजरीवाल की पार्टी ‘आप’ का संविधान, कानून, राजनीतिक प्रक्रिया और राजनीति के प्रति बहुत कम सम्मान है। इसलिए हम उनसे यह उम्मीद करते हैं कि मीडिया में रहने के लिए वे ऐसे ही सनसनी फैलाने वाली चीजें कहेंगे।
कांग्रेस प्रवक्ता मीम अफजल ने कहा, शाजिया इल्मी के कॉमेंट बहुत बचकाने हैं। मैं आश्चर्यचकित हूं कि एक सेक्युलर फैमिली से संबंध रखने वाला कोई इंसान ऐसा कैसे कह सकता है। मुस्लिम धमर्गुरु मौलाना खालिद रशीद ने भी शाजिया के बयान की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि मुस्लिमों ने हमेशा सेकुलर नेता का चुनाव किया है। भाई भी शाजिया से नाराज: कांग्रेस और बीजेपी के अलावा शाजिया के भाई और उनके राजनीतिक विरोधी एजाज इल्मी ने भी उन पर हमले किए। उन्होंने कहा कि हम सेक्युलर देश हैं और हमेशा रहेंगे। उन्होंने शाजिया के कम्यूनल तरीके से वोट करने की अपील की भत्सर्ना की।
पार्टी ने बयान से किया किनारा: आम आदमी पार्टी ने भी शाजिया के बयान की आलोचना की है। पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने कहा कि वह शाजिया के बयान का समर्थन नहीं करते हैं। उन्होंने कहा कि शाजिया का यह बयान गलत है। उन्हें ऐसा बयान नहीं देना चाहिए। ‘आप’ ने शाजिया के बयान से किनारा करते हुए कहा है कि शाजिया सही शब्दों का इस्तेमाल करें। खुद को चौतरफा घिरते देख कर शाजिया ने अपने बयान पर सफाई दी। उन्होंने कहा कि उनका मतलब सांप्रदायिकता से नहीं था, बल्कि उन्होंने कहा था कि किसी का सियासी गुलाम बनने की जरूरत नहीं। शाजिया ने कहा, ह्यमेरा कहना था कि मुसलमान कब तक डर कर रहेंगे कि आरएसएस आ जाएगा, मोदी आ जाएंगे। आप खुलकर वोट करें।ह्ण उन्होंने कहा कि मुस्लिमों के वोट बंट जाते हैं क्योंकि वे   बहुत अधिक धर्मनिरपेक्ष बन जाते हैं। उन्हें साम्प्रदायिक बनना चाहिए और अपना हित ध्यान में रखते हुए मतदान करना चाहिए। गौरतलब है कि मंगलवार को आप नेता शाजिया इल्मी का एक विडियो सामने आया था, जिसमें वह मुस्लिम नेताओं से कह रही हैं कि मुस्लिमों को इतना सेक्युलर नहीं होना चाहिए। गाजियाबाद से आप कैंडिडेट शाजिया ने मुसलमानों को सलाह दे डाली कि मुस्लिम ज्यादा सेकुलर न बनें।

  • Share/Bookmark

सुपरकिंग्स की जीत में चमके जडेजा

एजेंसी
दुबई: रविन्द्र जडेजा के आलराउंड प्रदर्शन से चेन्नई सुपरकिंग्स ने शुरू में उतार चढ़ाव से गुजरने के बाद शानदार वापसी करके राजस्थान रायल्स को सात रन से हराकर आईपीएल सात में अपनी लगातार दूसरी जीत दर्ज की। चेन्नई सुपरकिंग्स को पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलना पसंद नहीं आया। उसके शीर्ष क्रम के पांच बल्लेबाजों में केवल ड्वेन स्मिथ ही दोहरे अंक में पहुंचे। उन्होंने 28 गेंद पर छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 50 रन बनाये। जडेजा 11वें ओवर में बल्लेबाजी के लिए उतरे और 33 गेंदों पर 36 रन बनाकर नाबाद रहे जिससे चेन्नई छह विकेट पर 140 रन तक पहुंचने में सफल रहा। राजस्थान रायल्स के सामने बड़ा लक्ष्य नहीं था लेकिन स्पिनरों के सामने उसने शुरू से ही नियमित अंतराल में विकेट गंवाए और आखिर में उसकी टीम 19.5 ओवर में 133 रन पर सिमट गई। जडेजा ने 33 रन देकर चार विकेट लिए। रायल्स की तरफ से दसवें नंबर के बल्लेबाज धवल कुलकर्णी ने सर्वाधिक नाबाद 27 रन और रजत भाटिया ने 23 रन बनाए। भाटिया ने इससे पहले गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 13 रन देकर दो विकेट लिए थे। चेन्नई ने इस जीत से रायल्स पर अपना दबदबा भी बनाये रखा। उसकी आईपीएल में यह 14 मैच में नौवीं जीत है। आईपीएल सात में उसके तीन मैचों में अब चार अंक हो   गए हैं और वह दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। रायल्स की तीन मैचों में यह दूसरी हार है। शीर्ष क्रम के पांच बल्लेबाजों में केवल स्मिथ ही दोहरे अंक में पहुंचे। उन्होंने 28 गेंद पर छह चौकों और तीन छक्कों की मदद से 50 रन बनाए। रविंद्र जडेजा 11वें ओवर में बल्लेबाजी के लिए उतरे और 33 गेंदों पर 36 रन बनाकर नाबाद रहे। रायल्स के रजत भाटिया सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने चार ओवर में 13 रन देकर दो विकेट लिए। पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाले चेन्नई के सलामी बल्लेबाजों स्मिथ और ब्रैंडन मैक्कुलम ने एक दूसरे के विपरीत अंदाज में खेल दिखाया। स्मिथ ने शुरू से ही रन बनाने का जिम्मा उठाया जिससे चेन्नई पावरप्ले में एक विकेट पर 51 रन बनाने में सफल रहा। मैक्कुलम (6) ने भी स्मिथ की राह पर चलने के प्रयास में गेंद हवा में लहरायी और स्टीवन स्मिथ ने दौड़कर उसे खूबसूरत कैच में बदल दिया। स्मिथ ने फाकनर को निशाने पर रखा। उन्होंने आॅस्ट्रेलिया के इस गेंदबाज पर छक्का जड़कर शुरुआत की और मैक्कुलम के आउट होने के तुरंत बाद अगली चार गेंदों पर चौके जड़कर टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। इस बीच इस कैरेबियाई बल्लेबाज ने टिम साउथी पर भी छक्का और चौका जमाया। स्मिथ ने स्टुअर्ट बिन्नी की पहली गेंद को छह रन के भेजकर 27 गेंद पर अपना पचासा पूरा किया, लेकिन गेंदबाज अगली गेंद पर हिसाब बराबर करने में सफल रहा। स्मिथ धीमी गेंद को नहीं समझ पाए और उन्होंने मिड आॅफ पर कैच थमा दिया। उन्होंने पारी में छह चौके और तीन छक्के लगाये। इसके बाद चेन्नई की रन गति धीमी पड़ गई और नियमित अंतराल में विकेट गंवाने से स्थिति और बिगड़ गई। सुरेश रैना (4) भी भाटिया की धीमी गेंद के झांसे में आकर थर्ड पर कैच दे बैठे। रायल्स ने इसके बाद फाफ डुप्लेसिस (7) और कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी (5) को सस्ते में आउट करके चेन्नई के खेमे में खलबली मचा दी। धौनी के करारा शाट भाटिया की उंगलियों को चूमता हुआ नान स्ट्राइकर छोर पर विकेटों से लग गया जिससे डुप्लेसिस रन आउट हो गए। धौनी ने प्रवीण ताम्बे के अगले ओवर में डीप स्क्वायर लेग पर कैच दिया। चेन्नई 15वें ओवर में 100 रन के पार पहुंचा जिसके तुरंत बाद उसने मिथुन मन्हास (10) के रूप में छठा विकेट गंवाया, जो दोहरे अंक में पहुंचने वाले तीसरे बल्लेबाज थे। इस बीच शेन वाटसन ने भी टूर्नामेंट में पहली बार गेंदबाजी की। गेंद सीमा रेखा तक पहुंचने के लिए तरस रही थी लेकिन जडेजा ने एक छोर पर टिके रहकर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया।

  • Share/Bookmark

बिहार में तीसरा चरण : सात सीटों पर मतदान आज

एजेंसी
पटना : बिहार में तीसरे चरण में लोकसभा की 7 सीटों के चुनाव के साथ ही विधानसभा की दो सीटों के उप चुनाव के लिए कल होने वाले मतदान को लेकर राज्य से लगे नेपाल और बांग्लादेश की सीमा को सील करने के साथ ही अपराधियों और उग्रवादियों पर जल.थल और वायु मार्ग से नजर रखी जायेगी।
राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) रविन्द्र कुमार ने आज यहां बताया कि लोकसभा चुनाव के लिए तीसरे चरण के साथ ही दो विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव को लेकर सुरक्षा के चाक- चौबंद प्रबंध किये गये है। उन्होंने कहा कि बूथ लूटेरों और गड़बड़ी करने वाले तत्वों के साथ सख्ती से पेश आने के आदेश दिये गये है। इन क्षेत्रों में स्वतंत्र. निष्पक्ष और भयमुक्त मतदान सुनिश्चित कराने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी है। श्री कुमार ने बताया कि इस चरण में होने वाले मतदान के लिए जल, थल और वायु मार्ग से गश्त की व्यवस्था की गयी है। इस चरण के बांका संसदीय क्षेत्र में मतदान को लेकर माओवादी के प्रभाव वाले बेलहर और कटोरिया विधानसभा क्षेत्रोंं में हेलीकाप्टर से नजर रखी जायेगी। इन इलाकों के चिन्हित स्थानों पर एरियल सर्वे कर जायजा लिया गया है। अपर पुलिस महानिदेशक ने बताया कि दियारा क्षेत्र में अपराधियों पर नजर रखने के उद्देश्य से गंगा और कोसी समेत अन्य नदी वाले इलाकों में मोटर वोट से गश्त की व्यवस्था क ी गयी है। मोटर बोट से गश्ती के दौरान जवान सेटेलाईट फोन से लैश रहेंगे जिससे किसी भी तरह की जानकारी तत्काल संबंधित जिला नियंत्रण कक्ष को मिल सके। उन्होंने कहा कि दुर्गम और दियारा वाले क्षेत्रों को कई सेक्टरों में बांटा गया है और इसकी जिम्मेवारी पुलिस उपाधीक्षक स्तर के अधिकारियों को दी गयी है। गश्त करने वाले पुलिस बलों को सेटेलाइट फोन के साथ ही दूरबीन भी उपलब्ध कराया गया है।
श्री कुमार ने बताया कि चुनाव में अर्द्धसैनिक बलों की 221 कंपनियों समेत 57 हजार जवानों की तैनाती की गयी है। इसके अलावा केन्द्रीय सुरक्षा बल की 147 कंपनियां रहेगी जिनमें बीएसएफ की 35, आईटीबीपी 12, सीआरपीएफ 34,एसएसबी 26,सीआईएसएफ:. की 5,आरपीएफ की15, मध्य प्रदेश स्पेशल औग्जिलरी पुलिस (सैप) की 20, बीएमपी की 74, होमगार्ड के सात हजार कंपनी के अलावा जिला सशस्त्र बल के जवानों की भी तैनाती की गयी है। इसके अलावा घुड़सवार पुलिस का दस्ता भी लगाया गया है। अपर पुलिस महानिदेशक ने बताया कि चुनाव के मद्देनजर राज्य से लगे भारत नेपाल सीमा और बांग्लादेश की सीमा को सील कर चौकसी बढ़ा दीगयी है। आने और जाने वाले वाहनों की सघन तलाशी के बाद ही छोड़ा जा रहा है।  विधि – व्यवस्था बनाये रखने के लिए बीएमपी  की महिला बटालियन को भी इस बार लगाया गया है। श्री कुमार ने बताया कि सुरक्षा कारणों से जिन क्षेत्रों में चार बजे तक ही मतदान होना है उन इलाकों में अर्द्ध सैनिक बलों की तैनाती कर दी गयी है। इन इलाकों में बारूदी सुरंग रोधी वाहन और बुलेट प्रुफ वाहन उपलब्ध करा दिया गया है। इन वाहनों में तैनात बल के जवान अत्याधुनिक संचार माध्यमों के साथ-साथ हथियारों से भी लैश रहेंगे। बिहार के सुपौल , किशनगंज, पूर्णियां, अररिया, कटिहार, भागलपुर और बांका लोकसभा क्षेत्रों में मतदान होना है। साथ ही बिहार विधानसभा की वायसी और कोचाधामन के लिए उप चुनाव भी कराये जा रहे है। इन लोकसभा क्षेत्रों में एक करोड़ 8 लाख 22 हजार 707 मतदाता 9840 मतदान केन्द्रों पर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। तीसरे चरण के मतदान में केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री और राष्टÑवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के तारिक अनवर (कटिहार), पूर्व केन्द्रीय मंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता निखिल चौधरी (कटिहार) सैयद शाहनवाज हुसैन (भागलपुर),राजद के तस्लीमउद्दीन (अररिया), जय प्रकाश नारायण यादव (बांका) तथा पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्व. दिग्विजय सिंह की पत्नी और भाजपा प्रत्याशी पुतुल देवी (बांका) की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है।

  • Share/Bookmark

जागे वोटर, टूटे रिकार्ड

वरीय संवाददाता
रांची : झारखंड की छह लोकसभा सीट रांची, हजारीबाग, गिरिडीह, खूंटी, सिंहभूम व जमशेदपुर में गुरुवार को मतदान शांतिपूर्ण हुआ। 62 प्रतिशत वोटिंग हुई। 85,19,838 में से 52,50,509 मतदाताओं ने वोट डाले। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी पीके जाजोेरिया ने पत्रकारों को बताया कि लगभग वोटिंग में पिछले बार की तुलना में लगभग 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। फाइनल रिपोर्ट आने पर वोटिंग प्रतिशत में कुछ और वृद्धि संभव है। उन्होंने बताया कि छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा। इवीएम खराब होने की 122 शिकायतें मिलीं थीं। समय पर सभी इवीएम बदल दी गयीं। इस चरण में 106 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। पत्रकारों से बातचीत में उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी केके सोन व अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी हिमानी पांडेय भी मौजूद थीं।

  • Share/Bookmark

बिहार मेें 55 फीसदी वोटिंग

एजेंसी
पटना : बिहार में दूसरे दौर में गुरुवार को सात संसदीय सीटों पर मतदान हुआ। कड़ी धूप के बावजूद लोगों ने बढ़-चढ़कर मतदान में हिस्सा लिया। पिछले लोकसभा चुनाव के मुकाबले इस बार मतदान प्रतिशत में इजाफा हुआ। मतदान खत्म होने तक 55 फीसद मतदान हुआ। कई बूथों पर मतदाता सूची में गड़बड़ी के कारण हंगामे की भी खबर है। कई जगह ईवीएम खराब होने से मतदाता घंटों लाइन में लगे रहे। पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र से राजद प्रत्याशी मीसा भारती पर ईवीएम तोड़ने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है। वहीं मुंगेर संसदीय सीट पर लखीसराय के गरसंडा गाव में बूथ संख्या 232 पर लोजपा और जदयू कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। बूथ निरीक्षण को पहुंची लोजपा प्रत्याशी वीणा देवी को ग्रामीणों ने खदेड़ दिया। उनका आरोप है कि वहा जदयू के लोगों ने बूथ पर कब्जा कर लिया था। इस पर लोजपा समर्थक वहा पहुंच गए और दोनों पक्षों के बीच मारपीट व पथराव शुरू हो गया। इस दौरान वीणा देवी ने स्कूल के एक कमरे में छिपकर अपनी जान बचाई। सूचना मिलने पर जिला निर्वाचन पदाधिकारी अमरेंद्र प्रसाद सिंह तथा एसपी अशोक कुमार वहा पहुंचे और वीणा देवी को सुरक्षा के बीच गाव से बाहर निकलने में सहयोग किया। जदयू प्रत्याशी ललन सिंह भी वहा पहुंच गए थे। उन्होंने कहा कि लोजपा प्रत्याशी ने बूथ लूटने का प्रयास किया। जबकि वीणा देवी का कहना है कि जदयू ने ही बूथ कब्जा कर रखा था। मारपीट व पथराव में माइक्रो आॅब्जर्वर भी जख्मी हो गए हैं। जदयू और लोजपा की तरफ से प्राथमिकी दर्ज किए जाने की कारर्वाई की गई है। इस कारण वहां एक घटे तक मतदान बाधित रहा। मोकामा में जदयू विधायक अनंत सिंह और लोजपा प्रत्याशी वीणा देवी के पति सूरजभान को पुलिस ने हिरासत में लिया।
शाम तक नालंदा, आरा, बक्सर, जहानाबाद, मुंगेर, पटना साहिब और पाटिलपुत्र सीटों पर 50 प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ। कुल 117 उम्मीदवारों का भविष्य ईवीएम में कैद हो गया। कई जगहों पर लोगों ने विकास नहीं तो वोट नहीं का नारा लगाते हुए चुनाव का बहिष्कार भी किया। पटना में भाजपा के वरिष्ठ नेता सीपी ठाकुर वोटर आइडी के बाद भी वोट नहीं डाल सके। कंट्रोल रूम पहुंच शिकायत की जिस पर डीएम ने 223344 नंबर पर शिकायत करने को कहा। डीजीपी अभयानंद भी मतदाता सूची में   नाम न होने से पटना साहिब संसदीय क्षेत्र में वोट नहीं डाल सके। पटना के पशु चिकित्सा कालेज स्थित एक मतदान केंद्र पर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और उनकी पत्??नी राबड़ी देवी, बड़ी पुत्री और पाटलिपुत्र संसदीय क्षेत्र से प्रत्याशी मीसा भारती ने मतदान किया। जमालरोड स्थित मतदान केंद्र संख्या 116 पर पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार रामकृपाल यादव ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। पाटलिपुत्र संसदीय क्षेत्र के बिक्रम विधानसभा क्षेत्र में बूथ नंबर 34 पर ईवीएम तोड़ी गई। घटना के वक्त मौके पर मीसा भारती मौजूद थीं। पटना के चुनाव अधिकारी आर लक्ष्मण के अनुसार मीसा के खिलाफ बिहटा थाने में एफआइआर दर्ज किया गया है। चुनाव में बाधा पहुंचाने की कोशिश में 20 अन्य लोगों पर भी प्राथमिकी दर्ज हुई है। डीएम और एसपी मामले को देख रहे हैं। पूरे विवाद पर मीसा का दावा है कि बूथ नंबर 34 को कुछ असामाजिक तत्वों ने घेर लिया था। मीसा के मुताबिक कुछ लोग बूथ के अंदर बैठकर बटन दबा रहे थे और महिलाएं वोट डालने के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रही थीं। इसका विरोध करने पर उन लोगों ने उनके साथ हाथापाई की। बाद में इन्हीं असामाजिक तत्वों ने वोटिंग मशीन को तोड़ दिया। विवाद के बाद मौके पर पुलिस भी पहुंच गई।
जहानाबाद संसदीय क्षेत्र में नवाबगंज के बूथ संख्या 178 पर बोगस वोटिंग का आरोप है। मखदुमपुर में कुछ लोगों को वोट देने से रोका गया है। लोगों ने पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाया। जबकि एक बूथ पर कुछ असामाजिक तत्वों ने दहशत फैलाने के लिए फायरिंग की।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के गृह क्षेत्र नालंदा लोकसभा क्षेत्र में 10 गावों के मतदाताओं ने सड़क और बिजली को लेकर मतदान का बहिष्कार किया। राजगीर के बूथ नंबर 70 व 46 पर लोग ईवीएम बदलने का विरोध करते रहे। 11 बजे तक मतदान प्रक्रिया ठप रही। चंडी के बूथ संख्या 111 सिकरिया में मतदान केंद्र पर तालाबंदी की सूचना पर जिलाधिकारी के आदेश पर ताला तोड़ा गया। हिलसा विस क्षेत्र के कराय परसुराय प्रखंड के चौरासी गांव स्थित बूथ संख्या 51 के पास से डियावां के पैक्स अध्यक्ष नंदलाल सिंह को चालीस हजार रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया। हरनौत के बस्ती गांव में भी बूथ के पास से एक व्यक्ति को तीस हजार रुपये और तीन मोबाइल के साथ पकड़ा गया।
आरा संसदीय क्षेत्र में 29 स्थानों पर इवीएम में तकनीकी गड़बड़ी आई जिसे दुरुस्त कर पुन: मतदान शुरू करा दिया गया। पांच स्थानों पर लोगों ने वोट बहिष्कार किया। बक्सर संसदीय क्षेत्र में कहीं से किसी प्रकार की अप्रिय घटना की सूचना नहीं है। घेउरिया में मतदाताओं ने वोट का बहिष्कार किया।

  • Share/Bookmark

बेंगलुरु की प्रभावशाली जीत

एजेंसी
शारजाह : कप्तान विराट कोहली (नाबाद 49) के नेतृत्व में अपने बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन के बूते रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु टीम ने गुरुवार को शारजाह क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए आइपीएल के सातवें संस्करण के अपने पहले लीग मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स को आठ विकेट से हरा दिया। डेयरडेविल्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए रॉयल चैलेंजर्स के सामने 146 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे उसने 16.4 ओवरों में दो विकेट खोकर हासिल कर लिया। कोहली ने अपनी 38 गेंदों की पारी में दो चौके और तीन छक्के लगाए जबकि पार्थिव पटेल ने 28 गेंदों पर पांच चौकों और एक छक्के की मदद से 37 रनों की तेज पारी खेली। युवराज सिंह 52 रनों पर नाबाद लौटे। रॉयल चैलेंजर्स ने 6 रन के कुल योग पर अपने सलामी बल्लेबाज निक मेडिनसन (4) का विकेट गंवा दिया था। इसके बाद पार्थिव और कोहली ने दूसरे विकेट के लिए 42 गेंदों पर 56 रनों की साझेदारी की। पार्थिव का विकेट 62 के कुल योग पर गिरा। इसके बाद युवराज और कोहली ने तीसरे विकेट के लिए 47 गेंदों पर 84 रन जोड़े। टी-20 विश्व कप में अपनी धीमी बल्लेबाजी के लिए चारो ओर से आलोचना झेलने वाले युवराज ने 29 गेंदों पर तीन चौके और पांच छक्के लगाए। युवराज को रॉयल चैलेंजर्स ने इस साल नीलामी में 14 करोड़ रुपये में हासिल किया था। वह आइपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी हैं। इससे पहले, नए रूप लेकिन अपने कप्तान केविन पीटरसन के बगैर मैदान में उतरी डेयरडेविल्स टीम ने टॉस हारने के बाद बल्लेबाजी करते हुए एक समय 35 रनों पर अपने चार शीर्ष बल्लेबाजों को गंवा दिया था लेकिन ज्यां पॉल डूमिनी (नाबाद 67) और रॉस टेलर (नाबाद 43) ने पांचवें विकेट के लिए 77 गेंदों पर 110 रनों की साझेदारी करते हुए अपनी टीम को 20 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 145 रनों तक पहुंचने में मदद की। डूमिनी ने अपनी 48 गेंदों की पारी में चार चौके और तीन छक्के लगाए जबकि टेलर ने 39 गेंदों पर तीन चौके जड़े। डेयरडेविल्स ने मयंक अग्रवाल (6), मुरली विजय (18), कप्तान दिनेश कार्तिक (0) और मनोज तिवारी (1) को सस्ते में गंवा दिया था। अग्रवाल का विकेट 15 रन के कुल योग पर मिशेल स्टार्क ने लिया। इसके बाद 16 के कुल योग पर एल्बी मोर्कल ने कार्तिक को चलता किया। कुल योग में अभी एक रन ही जुड़ा था कि तिवारी भी चलते बने। तिवारी को वरुण एरॉन ने आउट किया। मुरली और डूमिनी ने इसके बाद चौथे विकेट के लिए 18 रन जोड़े। मुरली 20 गेंदों पर एक चौका और एक छक्का लगाकर 45 के कुल योग पर आउट हुए। एक समय ऐसा लग रहा था कि डेयरडेविल्स 100 रनों तक भी नहीं पहुंच पाएंगे लेकिन डूमिनी और टेलर ने टी-20 विश्व कप में अपने शानदार फार्म को जारी रखते हुए शतकीय साझेदारी के साथ अपनी टीम को सस्ते में समेटने की रॉयल चैलेंजर्स की रणनीति को नाकाम कर दिया और साथ ही अपनी टीम को लड़ने योग्य स्कोर दिया।
रॉयल चैलेंजर्स की ओर से स्टार्क, मोर्कल, एरॉन और यजुवेंद्र चहल ने एक-एक सफलता हासिल की।

  • Share/Bookmark

किन्नरों को तीसरे लिंग का दर्जा मिला

एजेंसी
नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एक अहम फैसला सुनाते हुए किन्नरों या ट्रांसजेंडर्स को तीसरे लिंग के रूप में पहचान दे दी है। इससे पहले उन्हें मजबूरी में अपना जेंडर पुरुष या महिला बताना पड़ता था। सुप्रीम कोर्ट ने इसके साथ ही ट्रांसजेंडर्स को सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर तबके के रूप में पहचान करने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि शिक्षण संस्थानों में दाखिला लेते वक्त या नौकरी देते वक्त ट्रांसजेंडर्स की पहचान तीसरे लिंग के रूप में की जाए। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किन्नरों या तीसरे लिंग की पहचान के लिए कोई कानून न होने की वजह से उनके साथ शिक्षा या जॉब के क्षेत्र में भेदभाव नहीं किया जा सकता। यह पहली बार हुआ है, जब तीसरे लिंग को औपचारिक रूप से पहचान मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि तीसरे लिंग को ओबीसी माना जायेगा। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि इन्हें शिक्षा और नौकरी में ओबीसी के तौर पर रिजर्वेशन दिया जाये। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारें से कहा कि तीसरे जेंडर वाली कम्यूनिटी के सामाजिक कल्याण के लिए योजनाएं चलाई जाएं और उनके प्रति समाज में हो रहे भेदभाव को खत्म करने के लिए जागरूकता अभियान भी चलाए जाएं। सुप्रीम कोर्ट ने यह भी कहा कि इनके लिए स्पेशल पब्लिक टॉइलट बनाए जाएं और साथ ही उनकी हेल्थ से जुड़े मामलों को देखने के लिए स्पेशल डिपार्टमेंट बनाए जाएं।

  • Share/Bookmark

भाई-बहन में जुबानी जंग

एजेंसी
नई दिल्ली : बीजेपी महासचिव और सांसद वरुण गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी को जवाब दे दिया है। अपने रास्ते को देश का रास्ता बताते हुए उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत हमले के बजाय मुद्दे की राजनीति होनी चाहिए। प्रियंका गांधी ने जवाब में बड़ा हमला करते हुए कहा कि वरुण ने जो किया है, वह मेरे परिवार के साथ विश्वासघात है। वरुण ने प्रियंका का नाम लिए बिना सुल्तानपुर से पर्चा भरने के बाद कहा, मैं मुद्दों की राजनीति करता हूं। व्यक्तिगत हमला करना मेरी राजनीति का हिस्सा नहीं है। मेरे जेहन में हमेशा लक्ष्मण रेखा का ख्याल होता है और इसे पार नहीं कर सकता। मर्यादा मेरी राजनीति का हिस्सा है। यदि किसी को शक है तो वह मेरी राजनीतिक स्पीच को सुन सकता है। व्यक्तिगत हमले नहीं होने चाहिए।
प्रियंका ने वरुण पर मंगलवार को भी हमला बोला। उन्होंने अमेठी में कहा, यह परिवार की चाय पार्टी नहीं, बल्कि विचारधारा की लड़ाई है। इसका कोई मतलब नहीं है कि किसी से मेरा खून का रिश्ता है। यदि कोई विचारधारा की रेखा पार करेगा तो मेरा मानना है कि वह मेरे परिवार के साथ विश्वासघात कर रहा है। प्रियंका ने कहा, मैं भाई का प्रचार करने नहीं, बल्कि विचारधारा की लड़ाई लड़ने आई हूं। मेरे पिता ने देश के लिए जान दे दी। यदि मेरे पिता की शहादत को मेरा बेटा भी नकारेगा तो नहीं छोड़ूंगी। वरुण ने जो किया वह विश्वासघात है।

  • Share/Bookmark